DAINIKMAIL EXPOSE कमिश्नर साहिब! बस्ती दानिशमंदा की फैक्टरी में कटी अवैध दुकानों और कालोनी का पर्दा खुलने से पहले बस्ती गुजां में खुले इस पर्दे के पीछे क्या निकला! आपके अफसरों को न दिखें तो इन तस्वीरों में देख लें

By जालंधर Published on 2017-08-04 19:18:21.


बस्ती दानिशमंदा में फैक्टरी के गेट के पीछे छिपी अवैध दुकानों और प्लाटों का पर्दा खुलने से पहले ही दैनिकमेल ने दिखा दिया थ जो शायद इलाके के अफसरों को न दिखा. बस्ती दानिशमंदा का पर्दा तो अभी खुला नहीं था मगर इससे पहले ही बस्ती गुजां अड्डे पर बना पर्दा खुल गया है इस पर्दे के पीछे से दो बड़े शोरूम निकले हैं यह लोकेशन बस्सी गुजां पर मेन अड्डे पर शक्ति पार्क के पास है. यहां आकर सड़क तंग हो जाती है और पार्किंग तो मानो हो ही नहीं सकती इसी इलाके में तंग लोकेशन पर मेन रोड पर दो बड़े शोरूम बना दिए गए हैं. इन शोरूम को बनाने से पहले आगे दीवार की गई थी. आज दैनिक मेल के जागरूक पाठको ने तंग लोकेशन पर ईटों की दीवार गिरते ही पीछे से बड़े शोरूम निकले देखे तो तुरंत सूचना दी. आज लेबर लगाकर जब ईंटों की दीवारों का पर्दा हटा दो पीछे दो शोरूम निकले. जिनका निर्माण हाल ही में ईंटों की दीवार आगे बना कर पीछे से किया गया है. तस्वीरों में साफ देखा जा सकता है की ईंटों का अधिकतर पर्दा हटा दिया गया है और दीवार का छोटा सा हिस्सा बाकी रह गया जो संभवता इस फोटो को क्लिक करने के बाद हटा दिया गया होगा सवाल यह उठता है कि यह अवैध इमारत जिस जगह पर बनी वह लोकेशन किसी से छुप नहीं सकती इस सूरत में नगर निगम का फील्ड स्टाफ इलाके में क्या कर रहा था इसका अंदाजा लगाया जा सकता है क्योंकि बिना निगम की मिलीभगत के बड़े शोरूम बनाना संभव नहीं बिल्डिंग बायलॉज के मुताबिक एक छोटी दुकान के आगे भी यदि पार्किंग हो तो उसे नहीं काटा जा सकता इसके बावजूद यहां बड़े शोरूम बना दिए गए हैं शोरूम बनने से सबसे बड़ा नुकसान आम लोगों को होगा क्योंकि इसके सामने पार्किंग बिल्कुल भी नहीं है. इलाके के निगम अक्सर इस बारे में फिलहाल कुछ भी कहने से कतरा रहे हैं. यहां बता दें कि नगर निगम में कमिश्नर के रूप में तैनाती आईएएस अफसर बसंत गर्ग की है ias कमिश्नर पहले ही कह चुके हैं यदि किसी निगम कर्मचारी की मिलीभगत से कोई भी अवैध निर्माण हुआ तो उस पर कार्यवाही हर हाल में होगी.बस्ती दानिशमंदा में फैक्टरी की दीवार की आड़ में कोठियां और दुकानें किसने बनवाई. इसी तर्ज पर बस्ती गुजां में दो बड़े शोरूम किसने बनवाये? दोनों निर्माण के लिए जिम्मेवार अफसरों पर निगम कमिश्नर कार्रवाई करते है या नहीं यह देखना होगा.