मुख्य समाचार

DAINIKMAIL CHUGLI लो करलो गल जलंदर दे पुलस कमिश्नर नू फोन करके ठगा ने मंग लेया एटीएम कोड

Published on 17 May, 2018 08:13 AM.

 लो जी अज्ज दी चुगली जलंदर दे पुलस कमिश्नर दे नाम. कल्ल कमिश्नर साब ने  साइबर क्राइम सैल दा उद्घाटन कीता सी. इनवीटेशन आया सी तां आपा गड्डी पुलस लाइन वाड़ती. सैल वेखन च ता बाहला इ हाइटैक लगदा सी. चलो सैल चालू हो गया पर नाल ही दिमाग च हूटर वजन लग गए कि आह आइडिया जलंंदर पुलस नू ही क्यों आइया. कोई न कोई ता शार्ट स्टोरी होयेगी.

चलो कमिश्नर साब ने चाह शाह दा इंतजां वी कीता सी तां चाह पींदेया पींदेया आपा कमिश्नर साब नू पुछ इ लिया कि साइबर क्राइम ते ठल्ल पाण दा आइडिया किद्दा आइया. तां कमिश्नर साब बोल पये वेखों लोका नाल किसे न किसे तरीके नाल साइबर क्राइं हुंदा कदे कोई एटीएम कोड लै ठगी करदा ते कोई फेसबुक ते क्राइम करदा. आह एटीएम कोड वाले ठग तां मैणू वी दो वार फोन करके डिटेल मंग चुके ने पर मैॆ ता जागरूक सी बच गेया. पर इक गल नोट कर लइ सी मैं दो वार फोन ओहदो आया जद मैंं नवी कार्ड मंगवाया. इसदा मतलब जद नवा कार्ड आनदा ए ते कोई न कोई बंदा डाटा लीक करदा ए पर थोड़ा अलर्ट होवे बंंदा ता ठगी बचदी ए.

मैं वी पुच्छ इ लेया कि जद तुहाणू फोन आये ते आपा गहराई च गए के नइ. कहंदे हां हां मैं डिटेल कडाई सी झारखंड दे नंबर सी. इस्से करके तां लोका नू बचाण लइ हुण ए सैैैल खोलेया बाकी रिजल्ट ता ओहदो दवांगा जद लोकी दरखास्ता देनगे क्योंकि लोकी पता नी क्यों इहो जे केसां च ठगी करवाके वी दरखास्त नइ देेेंदे, शायद ओहना नू लगदा पुलस ने कुछ नी करना. पर हुण एहदा नइ होणा दरखास्त लोकी देन बाकी कम्म आपा करांगे, हां इक दरखास्त नू निपटण च 4 महीने तक लग्ग सकदे ने पर कोशिश जड़ वड्न दी रहेगी.

नाल ही कमिश्नर साब ने जोर दा ठहाका लेया इन्ने च चाह वी मुक गई सी ते मैनू वी काहली सी. आपा निकल गए पर गल्ला गल्ला च एहनी चुगली ता लै आये कि कमिश्नर साब नू वी ठगन वालेया ने रगड़न दी कोशिश कीती. खैैैर झारखंड बैठे ठगा नू की पता कौन कमिश्नर ए ते कौन आम बंदा. ओहना लइ तां हर कोई बस शिकार हुंदा. चलो हुण मोरल आफ दी चुगली आ ए कि ठगा तो बचो तां हुण दरखास्त जरूर देयो वेखिये तां सइ कमिश्नर साब दे दावे किन्ने स्ट्रांग ने. 

मुख्य समाचार