मुख्य समाचार

इस स्टेट में बेटे संग इच्छामृत्यु की मांग लेकर अनशन पर बैठी मां, बोली पति कर रहा बदनाम, जानने के लिए क्लिक करें

By नई दिल्ली

Published on 13 Aug, 2017 03:32 AM.

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के जिला रायपुर में राज्य के महिला आयोग दफ्तर के सामने बैठी महिला ने इच्छामृत्यु की मांग की है। सविता खंडेल अकेले नहीं बैठी बल्कि साथ में उसका 11 वर्षीय बेटा भी मां के लिए न्याय की गुहार लगा रही है।
सविता का कहना है कि उसका पति उस पर आईपीएस अधिकारियों के साथ अवैध संबंध होने के आरोप लगा रहा है जिससे आहत होकर कहीं से भी इंसाफ न मिलने की सूरत में इच्छामृत्यु की मांग कर रही है। सविता अपने साथ बेगुनाही के सारे सुबूत भी लेकर बैठी है लेकिन अभी भी उसकी सुनवाई नहीं हो रही। उसका अपने पति पर आरोप है कि उसके पति ने उस पर कई अत्याचार किए हैं और उसका चारित्रिक हनन किया है। उसका कहना है कि उसने अपने पति के खिलाफ एफआईआर कराने की बहुत कोशिश की लेकिन किसी ने इस मामले में उसकी मदद नहीं की। यहां तक की महिला आयोग ने भी उसकी मदद नहीं की। यही कारण है कि वो न्याय या इच्छामृत्यु में से एक दिए जाने की मांग के साथ धरना प्रदर्शन कर रही है। सविता ने बताया कि उसकी शादी 1992 में एक व्यापारी से हुई। उसके पति ने उसे अपनाया नहीं और उसे दहेज के लिए परेशान भी किया गया। उसने कहा कि दहेज के लिए उसे पीटा गया और उसका चारित्रिक हनन भी किया गया। खुद को बचाने के लिए वह अपने माता-पिता के घर भी गई जहां से उसे हर बार समझौते के लिए वापस भेजा जाता रहा। आखिरकार 2010 में पति से अलग होने के बाद एक बार फिर दोनों परिवारों ने मिलकर सुलह करा दी। सविता ने कहा कि उसके पति के सीनियर अधिकारियों से काफी अच्छे संबंध थे और सविता की दोस्ती उनकी बीवियों के साथ थी। लेकिन उसका पति किसी भी मर्द से उसके बात करने पर उसके ऊपर शक करने लगा। जिन अधिकारियों का नाम लेकर उसके पति ने उसके चरित्र पर सवाल उठाए, उन्होंने भी उसके आरोपों का खंडन नहीं किया। इससे उसके पति की ताकत और बढ़ गई। उसने कहा कि वह महिला आयोग के सामने सबूत लेकर भी आई लेकिन फिर भी उसकी बात नहीं सुनी गई।
मुख्य समाचार