MP-UP, राजस्थान और पंजाब में कड़ाके की ठंड, कोहरे के कारण 500 मीटर से कम रह गई विजिबिलिटी

Spread the News

उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा में कोहरा छाया हुआ है। नजारा कुछ ऐसा है कि समझ पाना मुश्किल है कि कहां धरती खत्म हो रही है और कहां आसमान शुरू हो रहा है। जैसे आसमान धरती पर ही उतर आया है। मौसम विभाग की मानें तो आने वाले कई दिनों तक उत्तरी राज्यों में कड़ाके की ठंड और शीतलहर रहेगी। इन राज्यों में पंजाब, हरियाणा, चंड़ीगढ़, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और राजस्थान शामिल हैं।20 जनवरी तक रहेगा शीतलहर का प्रकोप
पहाड़ों पर हो रही भारी बर्फबारी के चलते सप्ताहभर से कड़ाके की ठंड पड़ रही है। दिन में धूप नहीं निकल रही। इससे लोग घरों में ही दुबके रहने को मजबूर हैं। रविवार को हरियाणा के अधिकतर जिलों में सिवियर कोल्ड-डे और कोल्ड-डे की स्थिति बन गई। मौसम विभाग ने कहा है कि दिल्ली में 20 जनवरी तक घने कोहरे के साथ शीतलहर का प्रकोप जारी रहेगा। देश के उत्तर पश्चिमी भाग में 19 जनवरी तक घना कोहरा छाए रहने का अनुमान है।दिल्ली-NCR में अगले 3 दिन कोहरे के साथ शीतलहर जारी रहेगी
मौसम विभाग के अनुसार तापमान में गिरावट के साथ सर्दी भी और बढ़ेगी। दिल्ली में 17 जनवरी से 20 जनवरी तक घने कोहरे के साथ शीतलहर जारी रहेगी, जिसके चलते दिन में भी धूप देखने को नहीं मिलेगी और हाड़ कंपा देने वाली ठंड से लोगों को सामना करना पड़ेगा।

रविवार को न्यूनतम तापमान समान्य से दो सेल्सियस 6 डिग्री और अधिकतम तापमान 14 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। इससे पहले शनिवार को न्यूनतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस पर ही सिमट गया था।

मंगलवार को न्यूनतम और अधिकतम तापमान में 1 से 2 डिग्री की बढ़ोतरी हो सकती है, लेकिन इससे ठंड से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है।

राजस्थान में 50 मीटर रह गई विजिबिलिटी
राजस्थान का आधा हिस्सा घने कोहरे की चपेट में है। धुंध की वजह से 50 मीटर से ज्यादा दूर कुछ नजर नहीं आ रहा है। मौसम विभाग का कहना है कि पांच साल बाद राजस्थान में विजिबिलिटी 50 मीटर तक घट गई। इससे पहले 14 जनवरी 2016 को विजिबिलिटी 50 मीटर रिकॉर्ड की गई थी। प्रदेश में एक कम तीव्रता का पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से ऐसी परिस्थितियां बनी हैं। शीतलहर के चलते कड़ाके की ठंड कम होने का नाम नहीं ले रही है। हालांकि 4-5 दिन बाद मौसम बदलने के आसार हैं, तब ठिठुरन से राहत मिल सकती है। पूरी खबर यहां पढ़े…

जयपुर में रविवार सुबह कोहरा इतना घना था कि जलमहल भी नहीं दिख रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!